Breaking News
Home / खबरे / गढ़वाल पोल्ट्री फॉर्म में करीब 200 मुर्गियों की ..ब”र्ड फ्लू का ख”त”रा, संकट में रोजगार

गढ़वाल पोल्ट्री फॉर्म में करीब 200 मुर्गियों की ..ब”र्ड फ्लू का ख”त”रा, संकट में रोजगार

अब कोरोनोवायरस के साथ ही उत्तराखंड में भी बर्ड फ्लू तेजी से फैल रहा है। राज्य में बर्ड फ्लू का आतंक बढ़ता जा रहा है और पक्षियों के मृत होने की प्रक्रिया भी रुक नहीं रही है। बीमार पक्षी लगभग हर जिले में मर रहे हैं और उनके बीच फ्लू तेजी से फैल रहा है। देश भर में 10 राज्यों में फ्लू तेजी से फैल रहा है और दुर्भाग्य से उत्तराखंड उन 10 राज्यों में से एक है जहां बर्ड फ्लू नियंत्रण से बाहर हो रहा है और तेजी से पक्षियों को मार रहा है। कहा जा रहा था कि यह फ्लू कौवे को अपनी चपेट में ले रहा है क्योंकि राज्य में अब तक के सबसे ज्यादा मृत कौवे पाए गए हैं। लेकिन अब यह फ्लू मुर्गियों के अंदर भी देखा जा रहा है और मुर्गियों को मार रहा है। इससे पोल्ट्री फार्मिंग से जुड़े लोगों में चिंता बढ़ गई है। टिहरी जिले में मुर्गी फार्म के अंदर मुर्गियों की मौत का सिलसिला भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। टिहरी जिले के विकास खंड कीर्तिनगर में स्थित महावीर सिंह राठौर के मुर्गी फार्म में मुर्गियां लगातार मर रही हैं और अब तक 200 से अधिक मुर्गियों की मौत हो गई है।

घटना को लेकर पशु विभाग चिंतित हो रखा है और उसने मुर्गी फार्म में सावधानी बरतने को कहा है। विभाग द्वारा कड़कनाथ मुर्गी का सैंपल क्लेक्ट कर मुख्यालय भेज दिया गया है। वहीं मुर्गियों की मौत की जानकारी के लिए राजस्व विभाग भी मौके पर पहुंचा। घटनास्थल पर पशु चिकित्सा अधिकारियों समेत कई लोग मौजूद रहे। मुर्गी फार्म के मालिक महावीर सिंह का कहना है कि उन्होंने बेरोजगारी से निजात पाने के लिए गांव में ही पोल्ट्री फार्म खोला था। मगर फार्म में कड़कनाथ मुर्गा की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। वर्तमान में उनके पास 320 मुर्गियां थीं जो कि रोजाना मर रही हैं। उन्होंने बताया कि उनको अब तक लगभग 200 मुर्गियों का नुकसान हो चुका है। बर्ड फ्लू का फैलना वाकई में मुर्गी पालन के व्यवसाय के ऊपर भी काफी असर डाल रहा है। बर्ड फ्लू के कारण मुर्गी पालक परेशान हो रखे हैं। कई लोगों ने मुर्गी फार्म खोलकर स्वरोजगार शुरू किया था। अब उनके बीच में भी यह डर बैठ गया है कि कहीं उनकी मुर्गियां भी फ्लू की चपेट में आ गईं तो तो उन को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

About kunal lodhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *