Breaking News
Home / खबरे / अब हरिद्वार में हुआ कोरोना का विस्फोट, कई संत मिले कोरोना पॉजिटिव..मचा हड़कंप लोगो के बीच

अब हरिद्वार में हुआ कोरोना का विस्फोट, कई संत मिले कोरोना पॉजिटिव..मचा हड़कंप लोगो के बीच

हरिद्वार में आज कुंभ का दूसरा शाही स्नान है। 13 अखाड़े हरकी पैड़ी पर क्रमवार गंगा स्नान करेंगे, लेकिन कुछ संत ऐसे भी हैं, जो शाही स्नान के लिए हरिद्वार आए तो थे, लेकिन इसमें हिस्सा नहीं ले सकेंगे। वजह है कोरोना संक्रमण। हरिद्वार में शाही स्नान से एक दिन पहले कई संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए। शाही स्नान से पहले सामने आई रिपोर्ट से मेला स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। कोरोना पॉजिटिव मिले संतों में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि भी शामिल हैं। दूसरे कई संतों की तरह वो भी कोरोना की चपेट में आ गए। रविवार दोपहर को यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी उनसे मुलाकात की थी। अब श्रीमहंत नरेंद्र गिरि के कोरोना पॉजिटिव मिलने से उनके संपर्क में आए लोगों पर भी संक्रमण की जद में आने का संकट मंडराने लगा है। श्रीमहंत नरेंद्र गिरी को निरंजनी अखाड़े में ही आइसोलेट किया गया है।
Kumbh News: कोरोना प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां, थर्मल स्‍क्रीनिंग दिखी नदारद, भक्‍तों का मास्‍क से भी परहेज, 102 पॉजिटिव| Corona Guidelines not being followed properly in ...
इसके अलावा जूना अखाड़े से भी कुछ संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक निरंजनी और जूना अखाड़े में छह संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। संतों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद इनके संपर्क में आए 40 संतों का कोरोना टेस्ट किया गया। सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। महाकुंभ के शाही स्नान के दौरान कई संतों का कोरोना पॉजिटिव मिलना चिंता की बात है। मेलाधिकारी स्वास्थ्य डॉ एएस सेंगर ने भी इसे खतरनाक बताया। कोरोना पॉजिटिव मिले संतों के संपर्क में आए लोगों से कोरोना टेस्ट कराने की अपील की जा रही है। अखाड़े में सैनेटाइजेशन का काम भी शुरू करा दिया गया है। वहीं बात करें पूरे जिले की तो रविवार को हरिद्वार में कोरोना के 401 नए केस मिले। हरिद्वार में एंट्री के लिए कोविड नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य किया गया है, जो लोग रिपोर्ट लेकर नहीं आ रहे उन्हें बॉर्डर से लौटाया जा रहा है।

About kunal lodhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *